मुख्य समाचार

सीएपीडी तकनीक से घर पर ही करें डायलिसिस


ARCHANA PANDEY 14/03/2019 11:12:02 12 Views


Lucknow. किडनी की बामारी से जूझ रहे मरीजों के लिये अच्छी खबर है। मरीजों को अब डायलिसिस के लिए अस्पतालों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, क्योंकि कंटिन्यूअस ऐबुलेट्री पैराटोनियल डायलिलस (सीएपीडी) तकनीक के जरिए मरीज अब घर बैठे ही डायलिसिस कर सकते हैं। बता दें कि डॉक्टर इसे व़ॉटर डायलिसिस भी कहते हैं। पीजीआई के डॉक्टर इस तकनीक का इस्तेमाल कई सालों से कर रहे हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, अब तक करीब 2000 मरीज इस तकनीक के माध्यम से खुद डायलिसिस कर चुके हैं।

Dialysis with CAPD technology at home

पीजीआई के नेफ्रोलॉजिस्ट प्रो. नरायन प्रसाद ने बताया कि वॉटर डायलिसिस के लिए मरीज के पेट में कैथेटर ट्यूब फिक्स किया जाता है। इसमें करीब दो लिटर पैरीटोनियम डायलिसिस फ्लूड डाला जाता है, जो करीब 6 घंटे तक पेट में रहता है और खून में मौजूद टॉक्सिन व यूरिया को बाहर निकाल देता है। इस प्रक्रिया को एक दिन में तीन बार किया जाता है। 

इसके साथ ही नेफ्रोलॉजिस्ट प्रो. नरायन प्रसाद ने बताया कि जो मरीज वॉटर डायलिसिस का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्हें तीन महीने बाद फॉलोअप के लिए अस्पताल बुलाया जाता है और डॉक्टरों द्वारा इन्फेक्शन की जांच की जाती है। 

Dialysis with CAPD technology at home

काफी सस्ता है वाटर डायलिसिस 

वहीं, हीमो डायलिसिस किए जाने से मरीजों के ब्लड निकलता है, लेकिन वॉटर डायलिसिस में इसका खतरा भी नहीं रहता है। वॉटर डायलिसिस, हीमो डायलिसिस के मुताबिक सस्ता भी है। 

हीमो डायलिसिस हफ्ते में दो बार होता है, जिसमें करीब पांच हजार रुपए व महीने में करीब 20 से 22 हजार रुपए का खर्चा आता है। वहीं, वॉटर हायलिसिस में हर महीने 18 हजार रुपए ही खर्च होते हैं।  

वीडियो देखें हिन्दी में -  Lucknow Samachar Video

बता दें कि पीएचसी से लेकर बड़े संस्थानों में नेफ्रोलॉजिस्ट की कमी है। ऐसे में मरीजों को शुरुआत में इलाज नहीं मिल पाता है, जिसके कारण देश में किडनी खराब होने के मामले बढ़ रहे हैं और यूपी में किडनी मरीजों की संख्या दो लाख तक पहुंच चुकी है।    

Web Title: Dialysis with CAPD technology at home ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया